टीवी से फिल्मों में आई, कोई गई तो कोई छा गई!

टीवी से फिल्मों में आई, कोई गई तो कोई छा गई!

242
0
SHARE

साक्षी त्रिपाठी।।
भारतीय सिनेमा जगत में हर तरफ से हीरोइनों की खेप का आना लगातार लगा रहता है। सबसे ज्यादा हीरोइनें आती हैं सौंदर्य प्रतियोगिताओं से निकलकर। लेकिन टीवी से भी आती रहती हैं। हाल ही के कुछ सालों में टीवी से सिनेमा में आई अभिनेत्रियों में विद्या बालन फिल्मों में भी सबसे टॉप पर है, तो ‘दंगल’ से टीवी की पार्वती भाभी यानी साक्षी तंवर भी छा गई है। इस बार इसी पर एक नजर –
मैटर-
किसी टीवी सीरियल में लीड रोल पाने के लिए बहुत मेहनत लगती है। फिर काम मिलने के पर उस सीरियल में बने रहने के लिए उससे भी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। लेकिन उसके बाद लगातार कई सालों तक टीवी के शिखर पर बने रहने के लिए इतनी सारी मेहनत के अलावा हिम्मत, ताकत और अभिनय क्षमता भी होनी चाहिए। साक्षी तंवर में इनमें से किसी की भी कोई कमी नहीं है। स्मृति मल्होत्रा इरानी के अभिनय छोड़कर राजनीति में जाकर दिल्ली बस जाने के बाद साक्षी तंवर बरसों से टीवी की सबसे बड़ी हीरोइन हैं। यह नंबर वन की जगह उन्हें इसलिए हासिल हैं, क्योंकि साक्षी अभिनय के मामले में सक्षम भी हैं, समर्थ भी हैं, और सबल भी। कोई भले ही उन्हें पार्वती भाभी के तौर पर ही जानता हो, लेकिन हर कोई जानता जरूर है।  देश – दुनिया के हर घर में उनकी पहचान भी है। फिर भी फिल्मों में आने के बाद उनके साथ ऐसा व्यवहार किया गया, जैसे ‘दंगल’ में काम देकर उन पर मेहरबानी की गई हो। आपने देखा ही होगा, आमिर खान की फिल्म ‘दंगल’ के पोस्टर तक में उनको जगह नहीं मिली है। दिल हर किसी के होता है, और अगर दिल है, तो किसी के ऐसे व्यवहार से वह दुखता भी है। साक्षी तंवर आखिर भारतीय नारी है, कोमल मन और भावुक भावनाओं वाली। वह पत्थर दिल नहीं है। लेकिन फिर भी साक्षी अगर ‘दंगल’ के प्रमोशन के दौरान वह आमिर खान की तारीफ के कसीदे पढ़े जा रही है, तो इसे उनका बड़प्पन कहा जाना चाहिए। या फिर हो सकता है वे छाती पर पत्थर रखकर तारीफ कर रही हो। लेकिन इतना तय है कि टीवी से आने के कारण उनके साथ अन्याय हुआ है, ऐसा माना जा रहा है। वैसे, आमिर खान अपने अलावा दूसरे किसी को भी महत्व न देने में माहिर हैं। मगर ‘दंगल’ के पोस्टर पर वैसे, आमिर ने अपने साथ जिन चार बेटियों को खड़ा कर रखा है, उनमें से छोटी दो का तो पूरी फिल्म में कोई खास रोल ही नहीं है। लेकिन उनके मुकाबले भी साक्षी तंवर को पोस्टर में न लेकर आमिर क्या दिखाना चाहते हैं, वह हर किसी दिमागवाले इंसान को समझ में आ रहा है। लेकिन फिर भी साक्षी को इस बात का कोई मलाल नहीं है। ‘दंगल’ गजब की चल पड़ी है। लोग इस फिल्म को देख रहे हैं। नोटबंदी के बावजूद पहले तीन दिन में ही 100 करोड़ के पार का धंधा कर चुकी है। चार बेटिय़ों की मां और एक जुनूनी खांटी भूतपूर्व पहलवान की बेबस पत्नी के रोल को बहुत गजब से निभाने के लिए साक्षी तंवर के अभिनय की तारीफ भी हर तरफ हो रही है। शायद इसलिए कि उन्हें भरोसा है कि आज नहीं तो कल, भारतीय सिनेमा में उन्हें उनकी जगह जरूर मिलेगी। ईश्वर करे, साक्षी तंवर को फिल्मों में उनकी जगह हासिल हो।
वैसे, टीवी से आकर फिल्मों में काम करनेवाली न तो साक्षी तंवर पहली हीरोइन हैं और न ही इस तरह का व्यवहार कोई पहली बार हुआ है। साक्षी से भी पहले विद्या बालन टीवी से फिल्मों में आई। विद्या की किस्मत बढ़िया रही। साक्षी ‘दंगल’ से पहले सनी देओल के साथ मोहल्ला अस्सी फिल्म में भी काम कर चुकी हैं। उन्हीं की तरह प्राची देसाई, श्वेता तिवारी, अंकिता लोखंडे, मृणाल ठाकुर, मधुरिमा तुली, आमना शरीफ, यामी गौतम आदि कई सारी हीरोइनें हैं, जो अपनी अभिनय क्षमता के बूते पर टीवी से फिल्मों में आई, बहुत सारा काम किया और नाम भी कमाया। ढेर सारी प्रतिष्ठा भी हासिल की। पैसा भी कमाया और काम भी। टीवी से आई जिन हीरोइनों को आज बड़े परदे पर बहुत पसंद किया जाता है, उनमें विद्या बालन शिखर पर हैं। लेकिन इतना जरूर है कि हर किसी को टीवी से सिनेमा में आने पर वो जगह नहीं मिलती, जो सौंदर्य प्रतियोगिताओं से आनेवालियों को मिलती है।
सन 2006 में सिर्फ सत्रह साल की उम्र में ‘कसम से’ सीरियल के जरिए टीवी पर अपने अभिनय की शुरूआत करने वाली अब प्राची देसाई पहले से ज्यादा खूबसूरत और ग्लैमरस दिखने लगी हैं। इमरान हाशमी के साथ ‘अजहर’ फिल्म में महत्वपूर्ण किरदार निभा चुकीं प्राची फिल्म ‘रॉक ऑन-2’ में भी हैं। फिल्म ‘वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई’ के लिए भी प्राची को बहुत तारीफ मिली। टीवी शो ‘पवित्र रिश्ता’ की मशहूर बहू के रूप में जबरदस्त काम करनेवाली अंकिता लोखंडे भी फिल्मों में अपनी शुरूआत के लिए तैयार हैं। उन्होंने अपने करियर पर वापस फोकस करने का मन बना लिया है। लेकिन टीवी के बजाय फिल्मों में वह ज्यादा ध्यान दे रही है। आमना शरीफ भारतीय टीवी के सबसे खूबसूरत चेहरे के रूप में जानी जाती हैं। टीवी पर राजीव खंडेलवाल के साथ उनकी जो़ड़ी जबरदस्त हिट रही। बाद में तो खैर आमना और राजीव दोनों फिल्मों में भी आए। लेकिन आमना शरीफ का फिल्मी करियर आफताब शिवदसानी की फिल्मों से शुरू होकर वहीं खत्म हो गया। उसके बाद उनके पास कोई दुनिया को बताने लायक काम तो फिलहाल नहीं है। लेकिन खबर है कि आमना जोर-शोर से एक बार फिर से फिल्मों में धमाका करनेवाली है। ‘चांद के पार चलो’ सीरियल के जरिए सन 2008 से अपनी अभिनय यात्रा शुरू करने वाली यामी गौतम ने सन 2012 में ‘विकी डोनर’ फिल्म के जरिए सिनेमा के परदे पर धमाकेदार शुरूआत की। सीरियल टीवी पर ‘ये प्यार ना होगा कम’ में अबीर खन्ना के साथ लहर माथुर के किरदार में यामी गौतम की जोड़ी लोगों को काफी पसंद आई थी। ‘विकी डोनर’ के बाद यामी ने पुलकित सम्राट के साथ ‘सनम रे’ फिल्म में भी अच्छा रोल किया। और इसी साल रितिक रोशन के साथ यामी ‘काबिल’ में फिर एक बार बड़े परदे पर देखने को मिलेगी। उन्हें काम मिल रहा है।
अक्षय कुमार की फिल्म ‘बेबी’ से इस मधुरिमा तुली ने फिल्मों में काम की शुरूआत की। टीवी सीरियल कुमकुम में हीरोइन रही मृणाल ठाकुर सलमान खान की आनेवाली सुलतान में दिखेंगी। इस फिल्म में दो हीरोइनों का रोल है और उन्हें दूसरी वाली हीरोइन का रोल मिला है। टीवी पर सुरवीन चावला ने ‘कहीं तो होगा’, ‘कसौटी ज़िंदगी की’ और ‘काजल’ आदि लोकप्रिय और बहुत देखे जानेवाले सीरियलों में काम करके छोटे परदे पर धूम मचाई। फिर जब वह बड़े परदे पर आई, तो ‘हम तुम और शबाना’, ‘अगली’, ‘हिम्मतवाला’ और ‘हेट स्टोरी-2’ के जरिए सुरवीन बड़े परदे की हीरोइन के रूप में जम गई। सुरवीन के पास फिलहाल तो कोई काम नहीं है, लेकिन एक शानदार स्क्रिप्ट पर फिलहाल काम चल रहा है। टीवी सिरीयल ‘कसौटी जिंदगी की’ से देश भर के दिलों पर राज करनेवाली श्वेता तिवारी भी बाद में फिल्मों में आई। ‘मदहोशी’, ‘आबरा का डाबरा’, ‘बेनी और बबलू’, ‘बिन बुलाए बाराती’, ‘मेरिड टू अमेरिका’, और ‘मिले ना मिले हम’, जैसी कुछ फिल्में उन्हें मिली भी। उनके  आइटम सौंग भी जबरदस्त हिट रहे हैं। लेकिन कोई बहुत उल्लेखनीय काम उन्हें नहीं मिला। फिर, उनकी पति राजा चौधरी की बेवकूफियों की वजह से उनकी पारिवारिक जिंदगी भी बहुत परेशानियों से भरी रही। मगर हिम्मत नहीं हारी। लेकिन घर सम्हालती या करियर। अब तो, खैर श्वेता ने अभिनव कोहली से सन 2013 में दूसरी शादी कर ली है और सोलह साल की एक बेटी पलक के बाद उन्हें हाल ही में बेटा हुआ है। काम की उन्हें कोई कमी कभी रही नहीं और स्टेज शो, विज्ञापनों व कार्यक्रमों वगैरह से भी वे भरपूर कमाई कर ही लेती है। उम्मीद है कि कुछ ही दिनों बाद वे फिर से पूरे जोश के साथ बड़े परदे पर धूम मचाएगी। लेकिन सबसे ज्यादा चमत्कारी करियर रहा विद्या बालन का। ‘हम पांच’ सीरियल की पांच बहनों में से चश्मा पहने राधिका का किरदार निभानेवाली विद्या ‘द डर्टी पिक्चर’ में अपनी अभिनय प्रतिभा का लोहा मनवा चुकी है। आज विद्या भारतीय सिनेमा की सबसे संजीदा और सफलतम हीरोइनों में सबसे ऊपर मानी जाती है।
यह सही है कि सिनेमा का परदा बहुत निर्मम होता है। वह स्क्रीन टेस्ट से लेकर फिल्म के रिलीज होने तक हर किसी के साथ बहुत सख्ती से पेश आता है। वैसे भी जिंदगी में सफलता के लिए बहुत मेहनत की जरूरत होती है। लेकिन सिनेमा में सफलता के लिए तो कुछ ज्यादा ही मेहनत लगती है। टीवी से आई हीरोइनें मेहनती तो होती है, लेकिन सिनेमा की बात शुरू से ही ज्यादा बड़ी मानी जाती है, सो सिनेमा के लोग टीवी को बहुत छोटा समझते रहे हैं, यह सच्चाई भी है। इसीलिए टीवी से आनेवालों से सिनेमा में अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है, और टीवी से मिली शोहरत को बिल्कुल भूलकर नए सिरे से हर काम के लिए खपना पड़ता है। तब जाकर सिनेमा का परदा आपके लिए नए रास्ते का निर्माण करता है। साक्षी तंवर भी दंगल में पोस्टर पर न दिखने का दर्द भूलकर सिनेमा में काम करने का मन बना चुकी है। आज शिखर पर बैठी विद्या बालन भी तो आखिर टीवी से ही फिल्मों में आई थी। भविष्य तो उज्जवल है ही।

LEAVE A REPLY